satyanarayan aarti

Shree Satyanarayan Bhagwan Ki Aarti धार्मिक मान्यता है कि श्री सत्यनारायण जी की पूजा करने से जीवन में व्याप्त सभी प्रकार के दुख और संकट दूर हो जाते हैं, अगर आप भी भगवान विष्णु का आशीर्वाद पाना चाहते हैं तो पूर्णिमा तिथि पर विधि विधान से श्री सत्यनारायण जी की पूजा करें।

Satyanarayan Aarti Hindi

जय  लक्ष्मी  रमना  जय  जय  श्री  लक्ष्मी  रमना
सत्यानारयाना  स्वामी  जन  पटक  हरना

रत्ना  जडित  सिंघासन  अद्भुत  छबि  राजे
नारद  करत  निरंजन  घंटा  ध्वनि   बाजे

प्रकट  भये  कलि  कारन  द्विज  को  दरस  दियो
बुधो  ब्रह्मिन  बनकर  कंचन  महल  कियो

दुर्बल  भील  कराल  जिनपर  किरपा  करी
चंद्रचूड  एक  राजा  तिनकी  विपति  हरी

भाव  भक्ति  के  कारन  छिन  छिन  रूप  धरयो
श्रद्धा धारण   किन्ही  तिनके  काज  सरयो

ग्वाल  बाल  संग  राजा  बन  में  भक्ति  करी
मन वांछित  फल  दीन्हा  दीनदयाल  हरी

चढात  प्रसाद  सवायो  कदली  फल  मेवा
धुप  दीप  तुलसी  से  राजी  सतदेवा

श्री  सत्यानारयाना  जी  की  आरती  जो  कोई  नर  गावे
कहत  शिवानन्द  स्वामी  मनवांछित  फल  पावे

******

Satyanarayan Aarti in Hindi Lyrics को हमने ध्यान पूर्वक लिखा है, फिर भी इसमे किसी प्रकार की त्रुटि दिखे तो आप हमे Comment करके या फिर Swarn1508@gmail.com पर Email कर सकते है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here